Thursday, November 15, 2012

क्या कैग का 2G घौटाले का आरोप राजनीति से प्रेरित नहीं था?

कैग (Comptroller and Auditor General of India) ने 2G स्पेक्ट्रम की कीमत एक सौ छियत्तर (176) हज़ार करोड बता कर घोटाले का जो बयान दिया था, वह 2G स्पेक्ट्रम 10 हज़ार करोड़ में भी नहीं बिक पाया.


तो क्यों नहीं बाकी के एक सौ चौसठ (164) हज़ार करोड कैग से वसूले जाने चाहिए?

यहाँ तक कि कैग के इस तरह के राजनैतिक से प्रेरित बयान के कारण लोकसभा की कार्यवाही तक नहीं चलने दी गयी थी.

2G स्पेक्ट्रम को जिस तरह बढ़ा-चढ़ा कर दिखाया जा रहा था, जिस तरह से 2G स्पेक्ट्रम पर विपक्ष के द्वारा बेवक़ूफ़ बनाया जा रहा था, आज सच्चाई सामने आने के बाद क्या पुरे विपक्ष और खास तौर पर भारतीय जनता पार्टी को देश से माफ़ी नहीं मांगनी चाहिए।

भाजपा को 2G स्पेक्ट्रम पर   संसंद ना चलने देने और देश को इससे हुए नुक्सान के लिए भी देश से माफ़ी मांगनी चाहिए।

2 comments:

  1. अब तो कि‍सी पे भरोसा ही नही रहा

    ReplyDelete
    Replies
    1. भरोसा करने से पहले पैनी नज़र से इनकी बातों को परखना ज़रुरी है काजल साहब

      Delete